गुरु मंत्र

गुरुर्ब्रह्मा, गुरुर्विष्णु गुरुर्देवो महेश्वर:। गुरुर्साक्षात् परब्रह्म तस्मै श्री गुरुवे नमः:।।

अर्थ – गुरु ही ब्रह्मा है, गुरु ही विष्णु है, गुरु ही महादेव है, गुरु ही साक्षात भगवान है, ऐसे परम् ज्ञानी श्री गुरु को मेरा प्रणाम है।

Verified by MonsterInsights